Posts tagged ‘देशभक्ति कविता’

सारे जहा में गूजे एक ही नारा

bharat mata

एक प्रण कर के चल रहा हु

कि सारे जहा में गूजे एक ही नारा

भारत माता की जय हो भारत माता की जय हो

हो जय जयकार पुरे जहा में

होगा जब यह प्रण पूरा

तब भारत फिरसे विश्व गुरु कहा जायेगा

जैसा विश्व में भारत था पहले

उससे भी आगे बढ़ के दिखलायेगा

जय हो भारत माँ की, जय हो भारत के लाल

जय हो जय हो जय हो

जय हिन्द जय भारत

देशभक्ति कविता

India Republic Day

ए मेरे वतन के लोगो

तुम साथ जरा मेरा दे दो

जो चल पड़े है…… विजय के पथ पे

तुम भी  साथ मेरे चल दो

जो होगी विजय हमारी ………….

तो हर जगह लहरेगी.. तिरंगा प्यारी

तुम साथ जरा दे दो, ए मेरे वतन के लोगो

आओ हो जाये हम सब एक…………..

दुश्मन न कर पाए कोई भेद

जीते हम हर जंग को

ए मेरे वतन के लोगो, तुम साथ जरा दे दो…….

ए मेरे वतन के लोगो

जरा भारत माँ को भी………

कुछ पल याद तो कर लो

ए मेरे वतन के लोगो, तुम साथ जरा दे दो

ए मेरे वतन के लोगो, तुम साथ जरा दे दो

वंदेमातरम् —-वंदेमातरम् —– जय हिन्द जय भारत 

« शहीदो को नमन  » 

(more…)